11 January 2019, mphalchal news

मंदसौर/इंदौर। नए साल में मप्र पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने उपभोक्ताओं को झटका दिया है। एक जनवरी से नए बिजली कनेक्शन, कनेक्शन काटने, जोड़ने, मीटर टेस्टिंग सहित अन्य सशुल्क सेवाओं पर 18 फीसद जीएसटी भी लगेगा। इस संबंध में कंपनी मुख्यालय से आदेश जारी कर गुपचुप एक जनवरी से लागू भी कर दिया गया है। इधर इंदौर में शुक्रवार को इसको लेकर बैठक बुलाई गई है।  एक जनवरी तक बिजली संबंधी कार्यों में डिपॉजिट कराने पर ही 18 फीसद जीएसटी वसूला जा रहा था। अब एक जनवरी से सभी सेवाओं पर जीएसटी लागू कर दिया है। आदेश के बाद विद्युत वितरण कंपनी की सेवाएं महंगी हो गई है।  पहले एक किलोवॉट के घरेलू कनेक्शन का रजिस्ट्रेशन शुल्क 200 रुपए था, अब 18 फीसद जीएसटी जोड़ने पर यह 236 रुपए का हो गया है। इसी तरह सभी व्यावसायिक कनेक्शन भी इसकी जद में आए है। आरसीडीसी यानी कनेक्शन काटने व जोड़ने पर भी इतना ही जीएसटी लगाया गया है। आरसीडीसी के पहले 200 रुपए लग रहे थे इसमें भी 36 रुपए बढ़ गए है। मीटर टेस्टिंग सिंगल फेस 50 रुपए से बढ़कर 59 रुपए एवं थ्री फेस मीटर टेस्टिंग पर अब 118 रुपए लगेंगे।  एक जनवरी से नए आदेश प्राप्त हुए है। घरेलू एवं व्यवसायिक कनेक्शन में रजिस्ट्रेशन चार्ज के साथ ही कनेक्शन काटने, जोड़ने, मीटर टेस्टिंग, मीटर जलने पर नया लगाने आदि पर 18 प्रश जीएसटी लगेगा। इसका पालन किया जा रहा है।  -विक्रांत ठाकुर, सहायक यंत्री  नए कनेक्शन में जीएसटी  कनेक्शन पहले अब  एक किलोवाट 200 236  तीन किलोवाट 600 708  एक किलो व्यावसायिक 300 354  तीन किलो व्यावसायिक 900 1062  (स्रोत: विद्युत वितरण कंपनी मंदसौर)